अवैध कालोनी मामला: चब्बेवाल के सरपंच आप नेता संधू सहित चार पर मामला दर्ज

होशियारपुर (द स्टैलर न्यूज़)। होशियारपुर-चंडीगढ़ मार्ग पर चब्बेवाल में अवैध रुप से कालोनी काटने वाले 4 आरोपियों के खिलाफ थाना चब्बेवाल पुलिस ने जालंधर डेवेल्पमैंट अथार्टी की शिकायत पर मामला दर्ज कर आगे की कार्यवाही शुरु कर दी है। पुलिस ने शिकायत पर कार्यवाही करते हुए 11 अगस्त को मामला दर्ज किया था। पुलिस ने शिकायत के आधार पर सुरजीत कौर पत्नी स्व. अमरजीत सिंह पुत्र चूहड़ सिंह निवासी रुडक़ा रोड गुरायां फिलौर जालंधर, किंग लखवीर सिंह पुत्र चूहड़ सिंह, सुरिंदरपाल सिंह पुत्र जोगिंदर सिंह व हरमिंदर सिंह संधू पुत्र सुरिंदपाल सिंह निवासी गांव चब्बेवाल होशियारपुर के खिलाफ पंजाब अपार्टमेंट और प्रापर्टी रेगूलेशन एक्ट 1995 की धारा 3, 5, 6, 9, 14 (2), 15, 18, 21 की उल्लंघना करने पर एक्ट की धारा 36 अधीन मामला दर्ज किया है। इनमें हरमिंदर सिंह संधू आम आदमी पार्टी के नेता हैं और चब्बेवाल के सरपंच भी हैं। जालंधर डेवेल्पमैंट अथार्टी का कहना था कि इन आरोपियों ने विभाग/सरकार के साथ धोखा करके आई.पी.सी. 1860 की धारा 420 के तहत जुर्म भी किया है। इसके साथ ही अथार्टी ने इनके द्वारा अनाधिकृत कालोनी में करवाए जा रहे विकास कार्य को बंद करवाने की भी बात कही थी।

Advertisements

जानकारी अनुसार चब्बेवाल में अवैध कालोनी काटे जाने का पता चलते ही अथार्टी ने इस संबंधी जमीन के मालिकों को नोटिस जारी किया था। इसके बाद 17 जून 2019 को रेगुलेटरी टीम ने मौके पर जाकर काम रुकवाया था, मगर क्लोनाइजर द्वारा काम नहीं रोका गया। इसके बाद टीम द्वारा 21 जून को जे.सी.बी. की मदद से कालोनी में करवाए जा रहे अवैध निर्माण को गिराया गया था और कालोनी के अनाधिकृत होने संबंधी बोर्ड भी लगाया गया था। कार्यालय में पेश किए गए दस्तावेजों की पड़ताल करने पर पाया गया कि उक्त लोगों ने अवैध तौर पर कालोनी का निर्माण किया है। जिसके चलते इन पर कार्यवाही की जानी लाजिमी है।

गौरतलब है कि अवैध कालोनी का मामला जब प्रकाश में आया था तो उस दौरान सरपंच हरमिंदर सिंह जोकि आम आदमी पार्टी के नेता हैं का कहना था कि उन्होंने कोई अवैध काम नहीं किया, मगर अब जबकि विभाग द्वारा पड़ताल उपरांत उनके सहित चार पर मामला दर्ज करवाया गया है तो इलाके में उनके द्वारा पार्टी पद की आड़ में अवैध कलोनी काटे जाने की खासी चर्चा हो रही है। इलाके में चर्चा है कि शायद अपने अवैध कार्यों को छिपाने के लिए ही कुछ लोग राजनीतिक गलियारों की छाया में रहते हैं, जिसकी उदाहरण सबके सामने है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.