शिव सूद पहले अपना गैरजिम्मेदाराना रवैया सुधारें फिर दूसरों पर उठाएं उंगली: पार्षद जिम्पा

होशियारपुर (द स्टैलर न्यूज़)। पार्षद ब्रहम्शंकर जिम्पा ने आज यहां जारी एक प्रैस विज्ञप्ति में कहा कि नगर निगम मेयर शिव सूद ने अपने साथियों के साथ मिलकर बहुत गैरजिम्मेदाराना बयान दिया है। उन्होंने कहा कि मेयर जी का कहना है कि पार्षद ब्रहम्शंकर जिम्पा द्वारा कभी भी बालकृष्ण रोड तथा हरी नगर में जमा होने वाले बरसात के पानी का मुद्दा ही नहीं उठाया गया।

Advertisements
Dashmesh Academy Hoshiarpur

पार्षद जिम्पा ने अपने बयान में बताया कि वर्ष 2008 में जब शिव सूद नगर कौंसिल के प्रधान थे तथा अप्रैल 2015 में जब वह मेयर बने तो उस दौरान उनके द्वारा लगातार यह मांग की जाती रही कि हाउस के बैठक हाल में प्रैस गैलरी बनाई जाए व सारी कार्यवाही की रिकार्डिंग करवाई जाए ताकि दुनिया को भी सच पता चल सके कि अंदर क्या होता है। यह बात समाचारपत्रों में सामने आने पर मेयर शिव सूद ने कहा था कि अगर डिमांड हुई तो गैलरी जरुर बनाई जाएगी। मगर दुख की बात है कि मेयर शिव सूद अपने गैरजिम्मेदाराना रवैये से बचने के लिए पिछले 9 सालों से जनता की आंखों में धूल झोंक रहे हैं। क्योंकि अगर प्रैस गैलरी बन जाती है तो इनके द्वारा जनता की समस्याओं को आंखों से औझल करने का सारा मामला जनता के सामने आ जाएगा। जहां तक उनके वार्ड की समस्या की बात है तो उसे हल करवाने के लिए उन्होंने सदैव आवाज उठाई है और दुख के समय अपने वार्ड वासियों के साथ खड़े हैं।

पार्षद जिम्पा ने कहा कि मेयर साहिब भूल गए होंगे इसलिए याद दिलाना चाहता हूं कि रेवे रोड के बाद प्रेमगढ़ का नाला जोकि 13 फीट से 3 फीट रह गया है के ढह जाने संबंधी पूर्व पार्षद कृष्णा सैनी प्रतिनिधिमंडल के साथ आपसे मिली थीं और समस्या के हल की गुहार लगाई थी। उन्होंने बताया था कि नाला गिरने से हरि नगर एवं रेलवे रोड एवं बाल किशन रोड को खतरा पैदा हो गया है। मगर उसका कोई हल नहीं निकाला गया। एक अन्य मामले में भी मेयर शिव सूद का उदासीन रवैया सामने आता है कि उनकी अगुवाई में शहर गंदगी और आवारा पशुओं का डंप बनकर रह गया है। पुराने सिविल सर्जन कार्यालय का मुद्दा भी बार-बार उठाया गया, मगर कोई हल नहीं निकाला गया, जिसका नजारा सभी के सामने है। ग्रीन व्यू पार्क जोकि पिछले 9 सालों से अपनी दुर्दशा पर आंसू बहा रहा है उसके लिए भी निगम ने क्या किया। जब 102 करोड़ सीवरेज बोर्ड के पास 2010 में आए तो भी उन्होंने आपको बरसाती पानी की निकासी के लिए शिमला पहाड़ी से भंगी चोअ तक पाइप लाइन डालने के लिए कहा था, लेकिन कोई प्रयास नहीं किया गया।

जबकि उस समय सरकार भी मेयर जी की ही पार्टी की थी। उन्होंने कहा कि आज जब प्रैस में आपका बयान आया है कि आपको पार्षद ब्रहम्शंकर जिम्पा द्वारा इस संबंधी अवगत ही नहीं करवाया गया तो लोग उनसे पूछ रहे हैं कि मेयर साहिब होशियारपुर के मेयर हैं या किसी ओर शहर के। लोगों ने कहा कि मेयरशिप का आनंद लेने की बजाए अगर अपना समय शहर की समस्याओं को हल करने के लिए देंगे तो उन्हें पता चलेगा कि शहर में कौन-कौन सा इलाका है ओर कहां क्या परेशानी है। लोगों ने कहा कि मेयर शिव सूद प्रदेश में कांग्रेस सरकार होने का बहाना न बनाएं बल्कि जनता को यह बताएं कि उन्होंने शहर निवासियों की समस्याओं के हल हेतु क्या प्रयास किए?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.