गांव अजड़ाम में नरकीय जीवन जीने को लोग मजबूर, सरकार व प्रशासन के दावों को रहे कोस

Punjab Govt. Advt. Punjab Govt. Advt. Punjab Govt. Advt.
Punjab Govt. Advt. Punjab Govt. Advt. Punjab Govt. Advt.

होशियारपुर (द स्टैलर न्यूज़)। बहुजन समाज पार्टी के सीनियर नेता ठेकेदार भगवान दास व पुरुषोत्तम अहीर ने गांव अजड़ाम का दौरा किया और लोगों की समस्याएं जानी। अहीर ने बताया कि गांव में एक गली ऐसी है जहां पर दलित भाईचारे से संबंधित पंचायत सदस्य का भी घर है तथा अर भी 70-80 लोग इस गली में रहते हैं।

Advertisements
Vardhman Jewellers Hoshiarpur

बसपा नेता ठेकेदार भगवान दास और पुरुषोत्तम अहीर ने किया गांव का दौरा, जानी समस्याएं

उन्होंने बताया कि गली का निर्माण न होने के कारण नालियों का पानी ओवर फ्लो होकर गली में ही जमा हो चुका है तथा हालात इतने बद से बदतर हो चुके हैं कि घरों से निकलना तथा पुन: घर के अंदर दाखिल होने संबंधी लोगों को पेश आ रही समस्या को शब्दों में भी बयान नहीं किया जा सकता कि लोग किस प्रकार नरकीय जीवन जीने को मजबूर हो रहे हैं। अहीर ने बताया कि जनवरी माह में समस्या संबंधी जिला प्रशासन को अवगत करवाया जा चुका है, परन्तु दुख की बात है कि प्रशासन ने इस तरफ कोई ध्यान नहीं दिया। गंदा पानी गली में खड़ा होने के चलते जहां उससे पैदा होने वाली बदबू से सांस लेना भी दूभर बना हुआ है वहीं छोटे-छोटे बच्चों व बड़ों पर संक्रमित बीमारी का खतरा मंडरा रहा है।

इतना ही नहीं कोरोना के कारण वैसे ही लोगों का घरों से निकलना काफी हद तक बंद है और ऊपर से इतनी भयंकर समस्या का हल न होने से लोगों का जीवन खतरे के साये से गुजर रहा है। इस दौरान उन्होंने पंचायत अधिकारी से भी फोन पर बात की, जिस पर उन्होंने बताया कि इस संबंधी कार्यवाही चल रही है और जल्द ही समस्या हल कर दी जाएगी। लेकिन दुख की बात है कि इतने माह बीत जाने के बाद भी न जाने कौन से कार्यवाही चल रही है। प्रशासन की ढीली कार्यप्रणाली को देखकर लगता है कि उसे लोगों के मरने या किसी संक्रमित बीमारी के फैलने का इंतजार है। एक तरफ सरकार व उसका सरकारी तंत्र विकास के दावे करता नहीं थक रहा तो दूसरी तरफ यहां के दुखद पलों में जीवन व्यतीत कर रहे लोग रह-रह कर सरकार व प्रशासन को कोस रहे हैं। उन्होंने कड़े शब्दों ने कहा कि अगर प्रशासन ने जल्द से जल्द इसका समाधान न किया तो उन्हें मजबूरन सडक़ों पर उतर कर संघर्ष का रास्ता अपनाना पड़ेगा। जिसकी सारी जिम्मेदारी जिला प्रशासन की होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here