गेहूँ की खऱीद के लिए ज़रूरत के अनुसार बारदाना उपलब्ध: आशु

Covid-19 steps Hospital vaccination Hospital vaccination Punjab Govt. Advt. Punjab Govt. Advt. Punjab Govt. Advt.
Punjab Govt. Advt. Punjab Govt. Advt. Punjab Govt. Advt.
Punjab Govt. Advt.

चंडीगढ़, (द स्टैलर न्यूज़)। पंजाब राज्य में गेहूँ की फ़सल की खऱीद कर रही खऱीद एजेंसियों के पास बारदाने की कमी सम्बन्धी ख़बर को सिरे से नकारते हुए पंजाब के खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री श्री भारत भूषण आशु ने कहा कि सभी खऱीद एजेंसियों के पास बारदाने की भरपूर मात्रा में उपलब्धता है, जिसके स्वरूप मंडियों में बारदाने की कमी नहीं है।

Advertisements

उन्होंने कहा कि बारदाने की खऱीद सम्बन्धी टैंडरिंग की कार्यवाही लगातार चलने वाली प्रक्रिया है, जो कि सीज़न से काफ़ी पहले ही शुरू हो जाती है, क्योंकि एक टैंडर के द्वारा ज़रूरत पडऩे पर पूरी मात्रा में बारदाने मुहैया करवाने का भरोसा नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा कि पुराना बारदाना बरतने सम्बन्धी केंद्र सरकार द्वारा मंज़ूरी बहुत देरी से दी गई, जिस कारण 12 अप्रैल को टैंडर जारी करने की ज़रूरत पड़ी थी।  श्री आशु ने कहा कि भारत के जूट कमिशन और नफेड द्वारा बारदाने की गाँठें की सप्लाई दी जा चुकी है। बिना किसी आधार के मुद्दा बना रहे लोगों पर शब्दी प्रहार करते हुए श्री आशु ने कहा कि विभाग को पी.पी. बैगों की गाँठों की सप्लाई भी कई एच.डी.पी.ई./पी.पी. बैग सप्लाई करने वालों से लगातार प्राप्त हो रही है। उन्होंने कहा कि इसके अलावा केंद्र सरकार ने 12 अप्रैल 2021 को पंजाब सरकार को बढिय़ा गुणवत्ता वाला पुराना बारदाना भी बरतने की मंज़ूरी दे दी है।

उन्होंने कहा कि गेहूँ की खऱीद प्रक्रिया पूरी रफ़्तार से चल रही है और 13 अप्रैल 2021 तक राज्य की मंडियों में 5,44,334 मीट्रिक टन गेहूँ की फ़सल की खऱीद की गई है, जिसमें से 44,728 मीट्रिक टन गेहूँ की खऱीद डी.सी.पी. के अधीन की गई है, जोकि स्मार्ट राशन कार्ड धारकों को बाँटी जानी हैं। कोरोना के फैलाव को रोकने के लिए पंजाब राज्य के किसानों को स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी सुझावों की पालना करने की अपील करते हुए श्री आशु ने कहा कि मंडियों में भीड़ एकत्र होने से रोकने के लिए उचित प्रबंध किए गए हैं, जिससे मंडी बोर्ड द्वारा जारी पास के अनुसार किसान अपनी फ़सल को मंडी  लेकर आएं और कोविड-19 सम्बन्धित नियमों की पालना हो सके। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह के नेतृत्व वाली सरकार की पंजाब राज्य के किसानों को परेशानी रहित खऱीद माहौल देने के वादे, जैसे कि बीते चार साल में दिया गया है, को फिर दोहराते हुए खाद्य मंत्री ने कहा कि पंजाब सरकार को गेहूँ की खऱीद के लिए 21,658.73 करोड़ की कैश क्रेडिट लिमिट प्राप्त हो चुकी है और खऱीद सम्बन्धी अदायगी भी शुरू कर दी गई है।

उन्होंने कहा कि मंडियों में खऱीदी गई गेहूँ की लिफ्टिंग भी आराम से चल रही है और 13 अप्रैल 2021 तक 39,285 मीट्रिक टन गेहूँ की लिफ्टिंग की जा चुकी है, जबकि इस दिन तक लिफ्टिंग का लक्ष्य (खऱीद से 72 घंटों में) 2,642 मीट्रिक टन गेहूँ की लिफ्टिंग का था। कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के आने से बने हालातों के कारण राज्य सरकार टोकन प्रणाली लागू करके फ़सल की पड़ाववार खऱीद को यकीनी बना रही है और गेहूँ की आमद के अनुसार ही मंडियों में गाँठें/बोरियाँ जारी की जा रही हैं, जिससे बारदाने की गाँठें/बोरियों की जमाख़ोरी पर नकेल कसी जा सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here