कुंवर विजय प्रताप ने बेअदबी कांड के मामले में सरकार की गंभीरता की पोल खोली: तीक्ष्ण सूद

Dav

होशियारपुर (द स्टैलर न्यूज़)।  विधानसभा चुनावों से पूर्व आम आदमी पार्टी ने अकाली दल के नेतृत्व पर राजनीतिक मंशा से परम पवित्र श्री गुरु ग्रंथ साहिब के बहबल  कला व वरगार्डी में हुए बेअदबी के मामले के गंभीर आरोप लगाए थे तथा कांग्रेस सरकार पर भी श्री गुरु ग्रंथ साहिब के बेअदबी कांड के दोषियों को संरक्षण दे कर  उन्हें सजा से बचाने के भी आरोप लगाए थे। इसके साथ ही आप  सुप्रीमो केजरीवाल तथा  मुख्यमंत्री भगवंत मान ने आम आदमी पार्टी की सरकार बनते ही 24 घंटे के अंदर बेअदबी कांड  की घटनाओं के जिम्मेदार दोषियों को सजा दिलवाकर मामले में न्याय दिलवाने का वादा किया था तथा आप नेताओं की इस बयानबाजी से समस्त पंजाबियों ने इस बात से प्रभावित होकर भारी बहुमत से पंजाब में सरकार आप की बना दी। पंजाब में आम आदमी पार्टी की सरकार बनी को ढाई महीने के  करीब हो चुके हैं, परंतु सत्ता सुख भोग रहे भगवंत मान व अन्य आप के बड़े नेता श्री गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी को भूल चुके हैं।  

Advertisements

उपरोक्त विषय के संबंध में प्रेस नोट जारी करते हुए भाजपा नेताओं पूर्व कैबिनेट मंत्री तीक्ष्ण सूद, जिला उपाध्यक्ष सुरेश भाटिया (बिट्टू), भाजपा के पार्षद सुरिंदर पाल भट्टी  ने कहा कि आम आदमी पार्टी की सरकार झूठी घोषणाओं के आधार पर बनी है। सबसे दुखदाई व शर्म वाली बात यह है कि श्री गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी का राजनीतिकरण  कांग्रेस,अकाली दल तथा आम आदमी पार्टी ने खुलकर किया है। जिससे आम पंजाबी का हृदय बेअदबी  कांड के बराबर ही दुखी हुआ है।  भाजपा नेताओं ने कहा कि पुलिस आई.जी कुंवर विजय प्रताप ने अपनी हाईकोर्ट को सौंपी रिपोर्ट में भी के दोषियों को चिन्हित किया था ,जिसे माननीय हाईकोर्ट ने राजनीति से प्रेरित बताते हुए एस.आई.टी गठित करवाई थी। आम आदमी पार्टी ने कुंवर विजय प्रताप को एक उच्च गुणवत्ता का अधिकारी बताते हुए उसे आम आदमी पार्टी की टिकट देकर अमृतसर से विधायक बनाया।

आज उसी कुंवर विजय प्रताप ने बेअदबी  कांड के मामले में मान सरकार द्वारा उदासीनता दिखने तथा पैरवी ना करने का आरोप लगाकर सरकार को कटघरे में  नंगा खड़ा कर दिया  है। श्री सूद ने कहा कि दुख की बात यह है कि  आम आदमी पार्टी कम से कम इस मामले में राजनीति ना करें तथा अपने चुनावी वादो पर पूरा उतरे। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here