जिन अध्यापक की 2 साल से कम सेवा रहती है उन्हें ऑफलाइन बदली करवाने का मौका दिया जाए: संजीव अरोड़ा

होशियारपुर (द स्टैलर न्यूज़)। भारत विकास परिषद के जिला अध्यक्ष तथा प्रमुख समाज सेवक संजीव अरोड़ा ने पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान से मांग की है कि अध्यापकों के तबादले करते समय जिन अध्यापकों की सेवा 2 साल से कम समय की रहती है उन अंध्यापकों के तबादले ऑफलाइन पहल के आधार पर किए जाएं। उन्होंने कहा कि हर अध्यापक को हक होता है कि वह अपनी सेवा के दौरान अपने मनपसंद स्टेशन पर अपनी सेवा दे सके। श्री अरोड़ा ने कहा कि जिस तरह से सरकार ने क्रॉनिक बीमारियों वाले कर्मचारियों को पहल के आधार पर ऑफलाइन ट्रांसफर करवाने का अधिकार दिया है उसी तर्ज पर अपनी सेवा के अंतिम वर्षों में अध्यापकों तथा अन्य कर्मचारियों को अपनी मनपसंद स्टेशन पर तबादला करबा वहां से सेवा मुक्त होने का मौका देना चाहिए और यह काम सभी कर्मचारियों और अध्यापकों पर लागू किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि शिक्षा विभाग के कर्मचारी अपनी ड्यूटी को पूरी तंदेही से अंजाम देते हैं। लेकिन कई बार उनके मन में जब खटास रह जाती है कि वह अपने पसंद के स्टेशन पर नहीं पहुंच पाए। इसके अलावा तबादलों के लिए 2 वर्ष की स्टे की शर्त को भी पूरी तरह से हटा देना चाहिए।

Advertisements

क्योंकि अध्यापक ने तो काम करना है चाहे वह एक स्कूल में करें अथवा दूसरे में श्री अरोड़ा ने कहा कि अगर शिक्षा विभाग 2 साल से कम सेवा वाले अध्यापकों को ऑफलाइन पहल के आधार पर तबादला करवाने का मौका देता है तो इससे सरकार की छवि भी सुधरेगी। क्योंकि पिछले दिनों के दौरान सरकार ने 2022 में तबादला करवाने वाले अध्यापकों को तबादला रद्द करवाने का मौका नहीं दिया था। जिसका खामियाजा लोकसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी को भुगतना पड़ा। जबकि 2021 और 2023 में तबादला करवाने वालों को अपना तबादला रद्द करवाने का मौका दिया गया। 2022 में तबादला करवाने वाले अध्यापकों ने बड़ी संख्या में सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल और यही कारण रहा की लोकसभा चुनाव में आशा के अनुरूप सत्ताधारी पार्टी को जीत प्राप्त नहीं हो सकी। अब भी सरकार के पास मौका है की वह कर्मचारियों  अध्यापकों की राय के अनुसार उन्हें अपनी सुविधा के मुताबिक जिला शिक्षा अधिकारी के माध्यम से तबादला करवाने का ऑफलाइन मौका दे। अगर ऐसा ना हुआ तो यह कर्मचारी 2027 से पहले सेवा मुक्त हो जाएंगे और 2027 में होने वाले विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी के खिलाफ हवा बनाने का काम करेंगे। उन्होने आशा व्यक्त की की मुख्यमंत्री उन्हें निराश नहीं करेंगे और 2 वर्ष से कम जिन अध्यापकों की सेवा रहती है उन्हें ऑफलाइन जिला शिक्षा अधिकारियों के माध्यम से तबादला करवाने का मौका जरूर देंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here