होशियारपुर (द स्टैलर न्यूज़), रिपोर्ट: भुपेश प्रजापति/समीर सैनी। एक मामले में पुलिस के नाम पर पैसे लेकर आगे न देने संबंधी प्राप्त हुई एक शिकायत के आधार पर थाना मॉडल टाउन पुलिस ने होशियारपुर शहर के नजदीकी गांव हरदोखानपुर के सरपंच एवं पंच के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरु कर दी है।

Advertisements

पुलिस को दी शिकायत में प्रीति पत्नी सन्नी सिद्धू निवासी हरदोखानपुर ने बताया कि इसी साल अगस्त माह में उसके भाई कुलजीत दीपू को पुलिस ने नशा बेचने के आरोप में गिरफ्तार किया था तथा एस.टी.एफ. की टीम उसके भाई को थाना मॉडल टाउन लेकर आई थी। जब उसे इस बात का पता चला तो वह गांव के सरपंच के पास गई तथा उस दौरान एक पंच भी वहां पर मौजूद थे। उन्होंने उसके भाई को छुड़ाने के लिए 70 हजार रुपये की मांग की तथा सौदा 65 हजार रुपये में तय हो गया।

प्रीति ने बताया कि इन्होंने 50 हजार पहले तथा 15 हजार रुपये बाद में लिए। जबकि पुलिस ने जब उसके भाई को गिरफ्तार किया था तो उसकी तबीयत खराब होने के कारण पुलिस ने उसे पंचायत बुलाकर यह कहते हुए छोड़ दिया था कि इसका ईलाज करवाया जाए ताकि वह अपनी जिंदगी नशा रहित जी सके। परन्तु इन्होंने अपना फर्ज नहीं निभाया। कुछ दिन पहले ही उसके भाई जसपाल नाम के व्यक्ति के साथ नशा बेचता काबू आ गया था, जो अब पुलिस हिरासत में है।

प्रीति ने पुलिस को बताया कि सरपंच व पंच ने उनसे रुपये लेकर उनके साथ ठगी की है तथा इन पर कार्रवाई की जाए। गौरतलब है कि इस मामले में आडियो रिकार्डिंग भी इन दिनों काफी वायरल हो रही है। जिसमें एक लडक़ी पहले सरपंच को तो बाद में पंच को फोन करके बात करती है तथा कहती है कि पुलिस का कहना है कि उन्हें रुपये नहीं मिले। जबकि सरपंच व पंच यह कहते हुए सुनाई दे रहे हैं कि जिसने रुपये लिए हैं वह थोड़े कहेगा कि रुपये लिए हैं। मामला सार्वजनिक होते ही जहां पुलिस की कार्यप्रणाली पर काफी सवाल उठ रहे हैं वहीं समाज के प्रतिनिधियों की कार्यप्रणाली भी शक के घेरे में आ गई है कि चंद रुपयों के लिए लोग किस हद तक गिर सकते हैं।

पुलिस ने शिकायत मिलते ही सरपंच सुरिंदर सिंह व पंच जगजीत के खिलाफ मामला (एफ.आई.आर. नंबर-269) दर्ज कर इस संबंधी जांच शुरु कर दी है।

सूत्रों की माने तो वैसे तो ऑडियो वायरल होने के बाद से ही पुलिस को भौंवे तन गई थी, पर अब शिकायत मिलने के बाद पुलिस पूरी तरह से हरकत में आ गई है कि आखिर रुपये गए कहां। क्योंकि, इसमें पुलिस की साख पर भी सवालिया निशाल लग रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here