बछवाड़ा/बेगूसराय (द स्टैलर न्यूज़),रिपोर्ट: राकेश कुमार। अरबा गांव की पीडि़ता को बछवाड़ा बीडीओ ने आमरन अनशन की अनुमति नहीं देते हुए कानूनी कार्रवाई करने की चेतावनी दी है। बताते चलें कि बीडीओ डा. विमल कुमार ने पत्रांक 549/2020 जारी किया है। जिसमें बीडीओ ने स्पष्ट रूप से लिखा है कि लॉकडाउन के क्रम में घरों से निकलने में भी मनाही है तो फिर प्रखंड मुख्यालय पर किसी प्रकार का कोई अमरन अनशन, धरना प्रदर्शन आदि की अनुमति नहीं दी सकती है। अनुमति के बिना प्रखंड मुख्यालय पर अमरन अनशन करने की स्थिति में अनशनकारियों पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

Advertisements
itbrains Digital Marketing experts in hoshiarpur

उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों अरबा गांव की मुखिया ने अपने गुर्गों के साथ मिलकर पुरानी दुश्मनी का बदला लेने के उद्देश्य से ग्रामीण बौआ यादव एवं पप्पू यादव को रस्सी से बांधकर बेरहमी से पिटवाकर अधमरा कर दिया था। घटनाक्रम की सूचना पाकर घटना स्थल पर पहुंचे गांव के सरपंच एवं दलबल के साथ पहुंचे बछवाड़ा थाने के एसआई अरूण कुमार सिन्हा बंधे पड़े घायल युवकों को इलाज के लिए भेजने की बजाय मुखिया जी के साथ चाय पानी करते देखे गए। उक्त घायल की पत्नी कुमारी दयारानी जब थाने जाकर मामला दर्ज करने हेतु आवेदन दिया तो पुलिस नें उल्टी कार्रवाई करते हुए दोनों घायल युवकों को ही जेल भेज दिया है।

साथ ही पीडि़ता ने बताया कि पुलिस के कर्तव्यहीन पक्षपात पूर्ण रवैये से क्षुब्ध होकर अमरन अनशन करने का फैसला लिया। उक्त अनशन की तिथि 16 मई सुनिश्चित है। मगर इसी बीच बीडीओ के द्वारा जारी किए गए नोटिस के बाद अनशन कार्यक्रम रद्द एवं पीडि़ता न्याय से कोसों दूर है। मामले से जुड़े की विडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल है। बावजूद इसके पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here