पाकिस्तान के साथ पंजाब सरहद से व्यापार खोलने के लिए जल्द ही भारत सरकार के पास पहुँच करूँगा: मुख्यमंत्री चन्नी

Dav

अमृतसर (द स्टैलर न्यूज़)। राज्य की आर्थिकता को बढ़ावा देने के लिए पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने आज ऐलान किया कि पड़ोसी देश पाकिस्तान के साथ व्यापार खोलने के मामले को उठाने के लिए वह जल्द ही भारत सरकार को पत्र लिखने के अलावा केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से भी मुलाकात के लिए समय मांगेंगे। पी.एच.डी चेंबर आफ कामर्स एंड इंडस्ट्री की अहम माँग को स्वीकृत करते हुए मुख्यमंत्री चन्नी ने ऐलान किया कि पी.आई.टी.ई.ऐक्स के लिए 10 एकड़ क्षेत्रफल में कनवैनशन सैंटर का नींव पत्थर इसी सप्ताह के अंदर रखा जायेगा जिससे संस्था को क्षेत्र में व्यापार और उद्योग को बड़े स्तर पर उत्साहित करने के लिए अलग-अलग गतिविधियों पूरा करने के योग्य बनाया जा सके। 
यहाँ पंजाब इंटरनैशनल ट्रेड एक्सपो (पाईटैक्स) के 15वें मेले के दौरान अपने संबोधन में मुख्यमंत्री चन्नी ने सवाल उठाते हुये कहा कि यदि व्यापार समुद्री रास्ते से हो सकता है तो ज़मीनी मार्ग के द्वारा क्यों नहीं किया जा सकता क्योंकि इससे आर्थिक खुशहाली के बड़े मौके पैदा होंगे। मुख्यमंत्री चन्नी ने यह भी कहा कि उद्योगपतियों को एक ही प्लेटफार्म से हर तरह की ज़रूरी मंजूरियां निर्विघ्न ढंग से यकीनी बनाने के लिए जल्द ही एक डिजिटल सिंगल -विंडो प्रणाली स्थापित की जायेगी। चन्नी ने कहा, ‘यह कदम उनको अधिकारियों के साथ सीधा सम्पर्क हटा कर अपने घरों से ज़रूरी इजाज़तों के लिए आवेदन देने के योग्य बनागा, जिससे पारदर्शिता और बढ़ेगी।’
अपनी सरकार की प्राप्तियों का जिक्र करते हुये मुख्यमंत्री चन्नी ने बताया कि राज्य सरकार ने व्यापारियों के विरुद्ध वैट से सम्बन्धित दर्ज 40,000 केस वापस ले लिए हैं, संस्थागत टैक्स ख़त्म कर दिया है, व्यापार का अधिकार कानून -2020 लागू कर दिया है, जिस से फ़ैक्टरियों और औद्योगिक क्षेत्रों के विस्तार के लिए सी.एल.यू. लेने की ज़रूरत को ख़त्म करना, 50 प्रतिशत निर्धारित दरें घटा कर औद्योगिक क्षेत्र को बड़ी राहत दी गई, 14 मोबाइल दस्तों की संख्या को 4 तक लाना, इसी तरह इंस्पेक्टर राज का अंत किया गया, फोकल प्वाइंटों को 10 करोड़ रुपए की लागत से अपग्रेड किया गया। विवादित मामलों के लिए 150 करोड़ रुपए की एकमुश्त निपटारा स्कीम (ओ.टी.एस.) स्कीम के इलावा चंडीगढ़ में 200 एकड़ क्षेत्रफल में फ़िल्म सिटी प्रोजैक्ट पहले ही तैयार किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने आगे कहा, ‘हम हुनर विकास पर पूरा ध्यान केंद्रित करते हुए औद्योगिक क्षेत्र की माँगों के अनुसार शैक्षिक संस्थाओं में उपयुक्त सिलेबस शुरू करने की भी योजना बना रहे हैं।’ धार्मिक पर्यटन में अमृतसर की बड़ी संभावनाओं का हवाला देते हुए मुख्यमंत्री चन्नी ने संतुष्टि ज़ाहिर किया कि पर्यटन के क्षेत्र में बुनियादी ढांचे के विकास के रूप में पंजाब का प्रथम दर्जा है। उन्होंने पाईटैक्स की तरफ से विशेष कर क्षेत्र के कारोबारियों को बड़ा प्लेटफार्म प्रदान करने और मेले में पाँच देशों ईरान, मिस्र, अफगानिस्तान, तुर्की और थाईलैंड की मौजुदगी को यकीनी बनाने के लिए इसकी शानदार सेवाओं के लिए सराहना की। मुख्यमंत्री ने वहां लगाऐ गए 450 स्टालों का निरीक्षण भी किया और सोनालिका को ‘सर्वाेत्तम इन्डोर स्टाल ’ का अवार्ड जबकि जेएऐल कंपनी को ‘बैस्ट आउटडोर स्टाल ’ का अवार्ड दिया।

Advertisements

इस मौके पर पंजाब कांग्रेस के प्रधान नवजोत सिंह सिद्धू ने भी सरहद पार से व्यापार की अहमीयत को दर्शाया। अमृतसर को एशिया की सबसे बड़ी मंडी बताते हुये उन्होंने कहा कि यह पंजाब के लिए खुशहाली के नये आयाम खोलेगा क्योंकि 34 देशों के साथ व्यापार और कारोबारी गतिविधियां चलाईं जाएंगी। सूक्ष्म, छोटे और दर्मियाने उद्योग के व्यापारियों को बढ़ावा देने की ज़रूरत पर ज़ोर देते हुए पंजाब कांग्रेस प्रधान ने कहा कि हमारा ध्यान नौजवानों को नौकरी मांगने वालों की बजाय रोज़गार पैदा करने के योग्य बनाने पर होना चाहिए। इस दौरान पीएचडी चेंबर पंजाब के सह-चेयरपरसन करण गिल्होत्रा ने पायटैक्स -21 के प्रबंध सफलता के साथ करने के लिए हर संभव सहयोग देने के लिए ज़िला प्रशासन का धन्यवाद किया। इस मौके पर अन्यों के इलावा अमृतसर से लोक सभा मैंबर गुरजीत सिंह औजला, मैडीकल शिक्षा और अनुसंधान मंत्री डा. राज कुमार वेरका, पी.एच.डी.सी.सी.आई. के पंजाब स्टेट चैप्टर के कनवीनर अमृतसर ज़ोन के कनवीनर और पी.एच.डी.सी.सी.आई. के सहायक सचिव जनरल नवीन सेठ उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here