भाई हरप्रीत ने दोस्त इकबाल के साथ मिलकर की थी बहन मनप्रीत की हत्या, 22 मार्च को सीकरी के समीप मिला था शव

Covid-19 steps Hospital vaccination Hospital vaccination Punjab Govt. Advt. Punjab Govt. Advt. Punjab Govt. Advt.
Punjab Govt. Advt. Punjab Govt. Advt. Punjab Govt. Advt.
Punjab Govt. Advt.

होशियारपुर (द स्टैलर न्यूज़), रिपोर्ट: हरपाल लाडा। होशियारपुर पुलिस ने 22 मार्च 2021 को बुल्लोवाल के नजदीक पड़ते गांव सीकरी में कुछ अज्ञात व्यक्तियों द्वारा 8-9 गोलियां मारकर एक महिला की हत्या की गुत्थी को सुलझाते हुए हत्यारों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। गौरतलब है कि 22 मार्च 2021 को बुल्लोवाल के नजदीकी गांव सीकरी में कुछ अज्ञात व्यक्तियों की तरफ से 8-9 गोलियां मारकर एक महिला को मौत के घाट उतार दिया गया था। अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाने के लिए पुलिस ने एसएसपी नवजोत सिंह माहल के निर्देशों पर विभिन्न पहलुओं पर जांच शुरु की थी। जिसके चलते पुलिस ने लडक़ी के भाई व उसके एक साथी को गिरफ्तार कर लिया है।

Advertisements

इस संबंधी पत्रकारों को जानकारी देते हुए एस.एस.पी. नवजोत सिंह माहल ने बताया कि उनके द्वारा एक अंधे कत्ल की वारदात को ट्रेस करने के लिए डीएसपी रविंदरपाल सिंह संधू के नेतृत्व में 2 टीमों का गठन किया गया जोकि एक टीम में उप पुलिस कप्तान डिटैकटिव राकेश कुमार और सीआईए होशियारपुर के इंस्पैक्टर शिव कुमार तथा दूसरी टीम में डीएसपी देहाती गुरप्रीत सिंह व इंस्पैक्टर प्रदीप सिंह मुख्य अधिकारी थाना बुल्लोवाल को शामिल किया गया। जो इनवैस्टीगेशन टीमों द्वारा प्रोफैशनल टैक्नीकल तरीके व बड़ी सूझबूझ के साथ हर पहलू पर तफ्तीश करने पर उस समय बड़ी कामयाब हासिल हुई जब इस अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाते हुए कत्ल की गई लडक़ी मनप्रीत कौर के भाई हरप्रीत सिंह उर्फ हैप्पी पुत्र शुमार सिंह निवासी शेरपुर तखतूपुरा थाना जीरा जिला फिरोजपुर और इसके दोस्त इकबाल सिंह पुत्र गुरदयाल सिंह निवासी दोलोवाल थाना कोट ईसे खां जिला मोगा को 7 मई 2021 को गिरफ्तार कर लिया गया। जो इन आरोपियों ने पूछताछ के दौरान बताया कि लडक़ी मनप्रीत कौर जिसने कि पवनदीप सिंह निवासी खडियाला सैनिया के साथ परिवार की मर्जी के बिना विवाह करवा लिया था और बाद में अपने पति के साथ अनबन होने के कारण अदालत में तलाक का केस चल रहा है और लडक़ी मनप्रीत कौर दुबारा अपने मायके जाना चाहती थी इसका भाई हरप्रीत सिंह यह नहीं चाहता था कि वह गांव वापिस आए। जिससे इनके द्वारा मनप्रीत कौर का पूरी साजिश के साथ कत्ल कर दिया था।

लडक़ी मनप्रीत कौर की हत्या करने से एक दिन पहले इन आरोपियों द्वारा रैकी भी की गई थी तिथि 22 अप्रैल 2021 को इन दोनों स्कॉर्पियो गाड़ी पर आए उस समय इकबाल सिंह गाड़ी चला रहा था और लडक़ी का भाई गाड़ी के सबसे पीछे वाली सीट में छिपकर बैठा हुआ था और इनके द्वारा रास्ते में आते-आते राहगीर से एक मोबाइल भी छीन लिया और उस फोन से इकबाल सिंह ने अपनी बहन मनप्रीत को वट्सएप पर फोन किया था ताकि काल ट्रेस न हो सके।

इसके बाद लडक़ी अपने घर से बाहर मेन रोड पर आ गई तो इकबा सिंह ने कहा था कि कोई बात करनी है गाड़ी में बैठ जब वह गाड़ी में बैठी तो इकबाल ने गाड़ी चला ली तथा मनप्रीत का भाई हरप्रीत पिछली सीट पर छिपकर बैठा था ने कपड़े से मनप्रीत का गला घोट दिया जब वह बेहोश हो गई तो आरोपियों ने गांव सिकरी के पास उसे गाड़ी से बाहर निकाला तो अपने 32 बोर रिवाल्वर से उसे 9-10 गोलियां मार दी और मौके से फरार हो गए। पूछताछ दौरान उन्होंने यह भी बताया कि दोनों ने इकबाल सिंब की इनोवा गाड़ी पर रेकी की थी तथा उससे करीब एक माह बाद फारच्यूनर गाड़ी पर रेकी की थी। आरोपियों के पास रेकी करने समय प्रयोग की गई गाडिय़ां व रिवाल्वर बरामद कर लिया गया है। वर्णनीय है कि आरोपी वारदात के समय सफेद रंग की स्कार्पियो किसी से मांग कर लाए थे। आरोपियों को इलाका मैडिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया गया, जहां से उनका 4 दिन का रिमांड हासिल करके और भी गहराई से पूछताछ की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here