कड़े मापदंडों की कसौटी पर खरे उतरे होशियारपुर के 9 गांव, ‘ड्रग फ्री’ घोषित: जिलाधीश

TrimpleM Hoshiarpur

होशियारपुर(द स्टैलर न्यूज़)। पंजाब सरकार की ओर से नशे के खिलाफ शुरु किए अभियान को जिला होशियारपुर में तब और बल मिला, जब पंचायतों की पहल के चलते जिला प्रशासन की ओर से 9 गांव ‘ड्रग फ्री’ घोषित किए गए। जिलाधीश ईशा कालिया ने जिला प्रशासनिक कांप्लेक्स में मुकेरियां उप-मंडल के अंतर्गत आते एक गांव बहबल मंज, गढ़शंकर उप-मंडल के अंतर्गत आते 8 गांवों रावल पिंडी, कंबाला, फतेहपुर कलां, डेरों, नाजरपुर, मुकंदपुर, कुलेवाल व मोजीपुर को ‘ड्रग फ्री’ गांव घोषित करने पर सर्टिफिकेट सौंप कर सम्मानित किया।

Advertisements

-बाकी पंचायतें भी अपने गांव को ‘ड्रग फ्री’ बनाने के लिए आगे आएं: डिप्टी कमिश्नर

जिलाधीश ने पंचायतों की प्रशंसा करते कहा कि 9 गांवों को ड्रग फ्री घोषित कर पहले चरण की शुरुआत की गई है व बाकी गांवों को भी पंचायतों की पहल के चलते ‘ड्रग फ्री’ घोषित करने के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने ड्रग फ्री गांवों से अपील करते हुए कहा कि वह बाकी गांवों को भी जागरुक करें, जिससे जिले के बाकी गांवों को भी स्वस्थ बनाया जा सके। उन्होंने कहा कि गांवों को ‘ड्रग फ्री’ बनाने के लिए पंचायतों की भूमिका काफी अहम होती है, इस लिए पंचायतों को भी अग्रणी भूमिका निभाने की जरुरत है। उन्होंने कहा कि गांव, शहर व जिले को ड्रग फ्री बनाने के लिए एकजुटता के साथ संयुक्त प्रयास करने की जरुरत है।

ईशा कालिया ने कहा कि ड्रग फ्री गांवों को 26 जनवरी को सम्मानित भी किया जाएगा। इसके अलावा इन गांवों में पहल के आधार पर अलग-अलग योजनाओं के अंतर्गत दी जा रही सुविधाएं मुहैया करवाई जाएंगी। उन्होंने कहा कि ‘ड्रग फ्री’ घोषित किए गए गांवों में पिछले 5 वर्षों से एन.डी.पी.एस एक्ट संबंधी कोई मामला दर्ज नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि गांवों को ड्रग फ्री घोषित करने के लिए कड़े मापदंड अपनाए गए है। गांवों में मास्टर ट्रेनरोंं, कलस्टर कोआर्डिनेटरों की जांच-पड़ताल के बाद उप-मंडल मिशन टीम व नशा रोकू निगरान कमेटियों से जानकारी हासिल करने के बाद जी.ओ.जी की ओर से फिर पड़ताल करवाई करवाई गई। उन्होंने कहा कि उप-मंडल मिशन टीम की ओर से आम इजलास भी करवाया गया व गांव वासियों से सुझाव व एतराज मांगे गए।

-नशे की रोकथाम संबंधी सूचना देने के लिए 94637 -68905 व हैल्प लाइन नंबर -181 पर किया जा सकता है संपर्क

कोई एतराज पेश न होने व गांव को ड्रग फ्री बनाने के दिए सुझाव के बाद स्वास्थ्य विभाग की ओर से रिपोर्ट हासिल की गई, जिसके अंतर्गत एक भी व्यक्ति उपचाराधीन नहीं पाया गया। जिलाधीश ने कहा कि नशे की रोकथाम संबंधी सूचना देने के लिए एस.टी.एफ/नारकोटिक्स सैल होशियारपुर के डी.एस.पी. (94637 -68905) के अलावा हैल्प लाइन नंबर -181 पर संपर्क किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि सूचना देने वाले का नाम व पता बिल्कुल गुप्त रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि नशे का कारोबार करने वाले किसी भी व्यक्ति को छोड़ा नहीं जाएगा। उन्होंने स्पैशल टास्क फोर्स (एस.टी.एफ) को हिदायत करते हुए कहा कि ड्रग फ्री किए गए गांवों की 15 दिनों बाद चैकिंग करनी भी यकीनी बनाई जाए। उन्होंने जी.ओ.जी को भी इन गांवों की निगरानी करने के लिए कहा। इस मौके एस.पी नारकोटिक्स मैडम मंजीत कौर, एस.डी.एम गढ़शंकर हरबंस सिंह, सहायक कमिशनर (सामान्य) अमृत सिंह, जिला प्रमुख जी.ओ.जी ब्रिगेडियर (रिटा.) मनोहर सिंह के अलावा अलग-अलग विभागों के अधिकारी व 9 गांवों की पंचायतें उपस्थित थी।

Leave a Comment

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.