होटल रॉयल प्लाज मामला: डोगरा, कौशल व उनके साथियों को 307 के तहत समन जारी, अदालत में रखेंगे पक्ष: डोगरा

Dav

होशियारपुर (द स्टैलर न्यूज़), हरपाल लाडा/जतिंदर प्रिंस।। होटल रॉयल प्लाजा में हुए लड़ाई झगड़े मामले में होशियारपुर की एक अदालत ने मामले के दूसरे पक्ष को धारा 307 के तहत तलब किए जाने संबंधी आदेश जारी किए हैं। इस मामले में डीसीपी नरेश डोगरा, होटल रॉयल प्लाजा के पार्टनर विवेक कौशल, नायब तहसीलदार (सेवानिवृत्त) मंजीत सिंह, शिवी डोगरा और हरनाम सिंह उर्फ हरमन सिंह को आईपीसी की धारा-307, 506, 341, 447, 323, 148, 149, 25/27 /54/59 आमर्स एक्ट के तहत समन जारी करते हुए 15 नवंबर को अदालत में पेश होने के आदेश जारी किए हैं। इस संबंधी नवाब हुसैन ने बताया कि 2019 में होटल रॉयल प्लाजा में उक्त लोग अपने कुछ 10-15 अज्ञात साथियों के साथ कब्जे की नीयत से आए थे तथा उस दौरान पता चलने पर विश्वनाथ बंटी, अजय राणा, वे खुद (नवाब) और बाबू होटल पहुंचे थे। उस दौरान जब विश्वनाथ बंटी ने नरेश डोगरा से बात करनी चाही तो डोगरा ने बंटी पर हमला कर दिया था और इनके साथी विवेक कौशल व मनजीत सिंह ने ललकारे मार व कहा कि आज तो बंटी को मारना है।

Advertisements

उसी दौरान हरमन सिंह ने बंटी की तरफ रिवाल्वर से गोली चला दी, जोकि अजय राणा की जांघ में लगी और बार हो गई थी। जबकि वे खुद गंभीर रुप से घायल हो गए थे। नवाब ने बताया कि जब अजय राणा को सिविल अस्पताल ले जाने का प्रयास किया गया तो पता चला कि वहां पर पहले से ही डोगरा के लोग पहुंच चुके थे। इस पर उन्हें और अजय राणा को जालंधर के एक निजी अस्पताल ले जाया गया था। जहां पर 6 जनवरी तक उनका इलाज चला तथा इसके बाद अजय राणा को होशियारपुर सिविल अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। इस मामले में नरेश डोगरा के प्रभाव के तहत पुलिस द्वारा एक तरफा कार्यवाही की गई थी और विश्वनाथ बंटी, अजय राणा, नवाब हुसैन और कई अन्य लोगों पर आईपीसी की धारा 307, 323, 341, 379-बी, 186, 353, 332, 427, 148, 149, 120-बी व 25/27/54/59, आमर्स एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया था। जबकि विश्वनाथ बंटी गुट की ओर से दर्ज कराई गई शिकायत पर आईपीसी की धारा-323, 506 व 149 के तहत थाने के रोजनामचे में सिर्फ डीडीआर ही काटी गई थी। जिससे आहत उनकी तरफ से अदालत का दरवाजा खटखटाया गया था। इस पर फैसला देते हुए माननीय अदालत ने नरेश डोगरा और उनके साथियों को तलब किया है।

दूसरी तरफ इस संबंध में बात करने पर डीसीपी नरेश डोगरा का कहना है कि अदालत द्वारा जो समन जारी किए गए हैं उस संबंधी वे अदालत में अपना पक्ष रखेंगे। उन्होंने कहा कि जो लोग उन पर आरोप लगा रहे हैं वे अपराधिक प्रवृति के लोग हैं तथा तत्कालीन एसएसपी के निर्देशों पर बंटी, गांधी एवं नवाब पर थाना सदर ने मामला (मामला नंबर 15) दर्ज किया था। उन्होंने कहा कि उसी मामले के तहत इन्होंने अदालत में अपील की थी, जिस संबंधी अदालत ने आदेश जारी किए हैं तथा जैसे ही अदालत की तरफ से उन्हें समन मिलते हैं वे अदालत में अपना पक्ष रखेंगे। इस मामले में विवेक कौशल का कहना है कि अभी तक उन्हें समन नहीं मिले हैं तथा मिलने के बाद वह अदालत में अपना पक्ष रखेंगे। कब्जा करने के आरोप को नकारते हुए उन्होंने कहा कि सोचने वाली बात यह है कि कब्जा करने कोई क्या बच्चों और गजटेड अधिकारियों को साथ लेकर जाएगा। उनका भी होटल में शेयर है और वे अपने होटल में दोस्तों के साथ मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here