पुलिस ने सुलझाई अंधे कत्ल की गुत्थी: आरोपी विक्रम व उसका मौसी का लडक़ा गिरफ्तार, एक फरार

Hospital vaccination Punjab Govt. Advt. Punjab Govt. Advt. Punjab Govt. Advt.
Punjab Govt. Advt. Punjab Govt. Advt. Punjab Govt. Advt.
Punjab Govt. Advt.

पटियाला (द स्टैलर न्यूज़)। पटियाला में पुलिस ने 65 वर्षीय महिला के अंधे कत्ल के केस को 96 घंटों से भी कम समय में सुलझाकर बड़ी सफलता हासिल की है। एडवोकेट नरिंदर सिंगला, पूर्व चेयरमैन बार कौंसिल हरियाना व चंडीगढ़ की पत्नी कमलेश सिंगला का चार दिन पहले उसके घर में उसके चेहरे व हाथों पर पैकिंग टेप लिपेटकर कत्ल कर दिया गया था। आरोपी कीमती चीजें, गहनें और नकदी लेकर फरार हो गए थे। इस संंबंध में 21 अप्रैल 2021 को पुलिस थाना लाहौरी गेट में मामला दर्ज किया गया था। प्राप्त जानकारी के अनुसार थाना लाहौरी गेट की विकास कालोनी में कमलेश रानी का कत्ल उनके ही एडवोकेट बेटे के मुंशी ने किया था। था। पांच साल से मुंशीगिरी कर रहा आरोपी विक्रम (30) कमलेश रानी के बेटे हैरी सिंगला के पास काम करता था। हर समय सिंगला परिवार के नजदीक रहने के कारण उसे घर की हर जानकारी थी। उसने ही लूट की साजिश रची थी। कमलेश रानी के कत्ल के बाद सहानुभूति जताने के लिए वह परिवार के पास भी पहुंचा था। इसी बहाने पुलिस जांच पर निगरानी रख रहा था। 20 अप्रैल की रात 2 बजे के करीब आरोपी विक्रम ने अपने मासी के बेटे अमरिंदर सिंह व गगन के साथ मिलकर इस वारदात को अंजाम दिया था। इसके लिए अमरिंदर सिंह की बाइक इस्तेमाल की गई थी।

Advertisements

इस संबंधी एसएसपी विक्रमजीत दुग्गल ने जानकारी देते हुए कहा कि विक्रम व उसके मौसेरे भाई को गिरफ्तार कर लिया गया है, जबकि तीसरा साथी अभी फरार है। जांच टीम ने दोनों आरोपियों से करीब 40 लाख रुपए के गहने व कैश बरामद किए हैं। एसएसपी दुग्गल ने कहा कि जांच के दौरान कुछ सुराग मिले थे। इसके बाद 6 सदस्य, स्पैशल इंवेस्टीगेशन टीम बनाई गई थी। इसमें एसपी सिटी आईपीएस वरुण शर्मा, एसपीडी हरमीत हुंदल, डीएसपी डी कृष्ण पैंथे, डीएसपी घनौर जसविंदर टिवाणा, सीआईए इंचार्ज राहुल कौशल व थाना लाहौरी गेट इंचार्ज जसप्रीत सिंह को शामिल थे। इन्होंने 96 घंटे में ही केस हल कर दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here