ओह राम जी! इह तां मंत्री जी आ: हैलमेट में निकले अरोड़ा और कई चेहरों पर बिखेर आए खुशी

Punjab Govt.r
Punjab Govt.r
Punjab Govt.r

होशियारपुर (द स्टैलर न्यूज़)। ओह राम जी! इह तां मंत्री अरोड़ा साहिब ने। जो पंजाब सरकार दे बहुत वड्डे मंत्री ने। साढे तां भाग ही खुल गए साहिब जो तुसी साढे कोल आए ते दिवाली दी खुशी नूं तुसी चार गुणा कर दित्ता। रब्ब तुहाड़ी उमर लंबी करे कहते हुए गरीब जरुरतमंद मेहनतकश लोगों ने मंत्री अरोड़ा का हाथ जोडक़र अभिनंदन और धन्यवाद किया व उनकी लंबी उमर की कामना की। कैबिनेट मंत्री सुन्दर शाम अरोड़ा आज बाद दोपहर बिना किसी को बताए हैलमेट बहनकर घर से निकले तो किसी को कानो कान खबर नहीं हुई तथा सैशन चौक से घंटा-घर की तरफ बढ़ते हुए श्री अरोड़ा सडक़ किनारे फड़ी लगाकर दीपक व अन्य सामान बेच रहे गरीब जरुरतमंद मेहनतकश लोगों से मिलते चले व उनका लगभग सारा सामान उन्होंने खरीद लिया।

Punjab Govt.r
Advertisements

श्री अरोड़ा को अधिकतर लोगों ने पहचान लिया, लेकिन हैलमेट लगा होने के कारण वे पहचान में नहीं आ रहे थे। लेकिन उनके मीठे बोल और लोगों को दिवाली की बधाई देने का उनका अंदाज ज्यादा देर उन्हें लोगों की नजऱों से बचा नहीं सका और लोग उन्हें मिलने के लिए उनके पास आने लगे। इस दौरान उनका पीए मनी सिद्धू व उनका एक सिक्योरिटी गार्ड ही उनके साथ था। श्री अरोड़ा ने हरेक से उनका कुशलक्षेम जाना और उन्हें दिवाली की बधाई देते हुए अपने परिवार के साथ जाकर खुशियां सांझा करने की बात कहते हुए उनके सारे दीपक आदि सामान खरीद लिया। श्री अरोड़ा द्वारा दिवाली के पावन दिन पर उक्त लोगों को प्रदान की गई खुशियों को पाकर हर कोई फूले नहीं समा रहा था। इस दौरान द स्टैलर न्यूज़ के कैमरे की नजऱ भी उन पर पड़़ गई तथा हमारी टीम ने उन्हें कैमरे में कैद कर लिया। इस दौरान श्री अरोड़ा से इस बारे में उनके विचार जानने का भी प्रयास किया गया, लेकिन उन्होंने यह कहते हुए टाल दिया कि वे कोई राजनीति या स्टंट करने नहीं आए हैं। बल्कि वे हर चेहरे पर मुस्कान देखना चाहते हैं। क्योंकि दिवाली हमारी संस्कृति का सबसे बड़ा त्यौहार है और इस दिन कोई भी चेहरा मायूस नहीं रहना चाहिए।

उन्होंने कहा कि इन लोगों को आज के दिन बहुत सारी उम्मीदें होती हैं तथा इन्हें भी पूरा हक है कि ये भी अपने परिवार के साथ परिवार के बीच इस दिन की खुशी को सांझा करें। उन्होंने मानवता के नाते तथा भगवान से मिली प्रेरणा से दीपक आदि खरीदकर इन्हें खुशी देने का प्रयास किया है। वे भगवान श्री राम की कृपा मानते हैं कि उन्होंने उन्हें इस काबिल समझा कि वे किसी के चेहरे पर खुशी ला सके। उन्होंने आह्वान किया कि हमें हजारों-लाखों उम्मीद लगाए बाजार में रेहड़ी व फड़ृी लगाकर सामान बेचने वालों से कुछ न कुछ जरुर खरीदना चाहिए ताकि यह भी अपने परिवार के साथ हर खुशी मना सकें। इस दौरान उन्होंने सभी को दिवाली की बधाई देते हुए पूरी सावधानी के साथ त्यौहार मनाने का आह्वान किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here