होशियारपुर जेल में संदिग्ध हालत में मनी प्रताप अमृतसरी की मौत, परिवार ने जेल प्रशासन पर लगाया टार्चर करने का आरोप, किया प्रदर्शन

Hospital vaccination Punjab Govt. Advt. Punjab Govt. Advt. Punjab Govt. Advt.
Punjab Govt. Advt. Punjab Govt. Advt. Punjab Govt. Advt.
Punjab Govt. Advt.

होशियारपुर (द स्टैलर न्यूज़)। होशियापुर केन्द्रीय जेल में बंद अमृतसर निवासी मनी प्रताप अमृतसरी की संदिग्ध परिस्थितियों में जेल में मौत होने के मामले में परिजनों ने जेल प्रशासन के खिलाफ रोष व्यक्त करते हुए जमकर नारेबाजी की। उन्होंने कथित तौर जेल सुपरिंटेंडेंट पर आरोप लगाया कि जेल में मुलाजिम उसे टार्चर कर रहे थे। जिसके कारण मनी की मौत हो गई।

Advertisements

परिवार ने आरोप लगाया कि मनी हत्या के मामले में सजा काट रहा था तथा मुलाजिम उसे टार्चर करते थे और 14 से 18 घंटे तक चक्की में बंद रखते थे, जिसके कारण वह डिप्रेशन में चला गया। जेल प्रशासन द्वारा उसका सही इलाज करवाने की बजाए उसे अंदर ही दवाई देते रहे। सुबह जेल से फोन आया कि मनी की मौत हो गई है। परिवार ने आरोप लगाया कि मनी की मौत का जिम्मेदार जेल प्रशासन है। परिवार व मृतक मनी की पत्नी प्रभा ने आरोप लगाया कि मनी कई दिनों से 30 हाजर की डिमांड कर रहा था, जो उन्होंने जेल के एक मुलाजिम के खाते में पैसे डलवाए भी थे।

वह पिछले 5 साल से 302 व 307 के तहत सजा काट रहा था और पिछले डेढ़ साल से होशियारपुर की जेल में बंद था। मौके पर पहुंचे जेल अधिकारी देस राज से जब इस बारे में बात की गई तो वह सवालों का जवाब देने की बजाए वहां से भाग गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here