विजीलैंस ने नगर निगम के क्लर्क को 11500 की रिश्वत लेते रंगों हाथों किया काबू


चंडीगढ़ (द स्टैलर न्यूज़)।
पंजाब विजीलैंस ब्यूरो ने राज्य में भ्रष्टाचार के विरुद्ध चलाई गई मुहिम के दौरान सोमवार को नगर निगम ज़ोन- ए, लुधियाना में क्लर्क के तौर पर तैनात राहुल महाजन, जो कि गुरू नानक नगर, सिविल लाईन्ज़, लुधियाना का रहने वाला है, को 11500 रुपए की रिश्वत लेने के दोष अधीन गिरफ़्तार किया है।  
इस सम्बन्धी जानकारी देते हुए राज्य विजीलैंस ब्यूरो के सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि यह मामला रजिन्दर पाल शर्मा निवासी फऱीद नगर, रामपुरा फूल, बठिंडा, जि़ला बठिंडा द्वारा मुख्यमंत्री भ्रष्टाचार विरोधी एक्शन लाईन में दर्ज करवाई गई शिकायत के आधार पर दर्ज किया गया है।  
उसने आगे बताया कि शिकायतकर्ता ने अपनी शिकायत में दोष लगाया है कि उसने अपने बेटे के जन्म सर्टिफिकेट में पिता का नाम और जन्म स्थान की दुरुस्ती के लिए नगर निगम लुधियाना के रजिस्ट्रार, जन्म और मृत्यु के दफ़्तर को आवेदन दिया था। उसने आगे दोष लगाया कि नगर निगम दफ़्तर में तैनात क्लर्क ने यह दुरुस्ती करने के बदले 30000 रुपए की माँग की। शिकायतकर्ता ने बताया कि उक्त क्लर्क पहले ही 9000 नकद और गूगल पे के द्वारा 2500 रुपए ले चुका है और अब बकाया रिश्वत की रकम माँग रहा है।  
प्रवक्ता ने बताया कि इस शिकायत की पड़ताल के दौरान उक्त तथ्य सही पाए गए कि मुलजिम ने शिकायतकर्ता से 11500 रुपए हासिल किये गए थे। इस अनुसार उक्त मुलजिम के खि़लाफ़ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम कानून के अंतर्गत विजीलैंस ब्यूरो के थाना लुधियाना रेंज में मुकदमा दर्ज करके उक्त क्लर्क को गिरफ़्तार कर लिया गया है। उन्होंने कहा कि इस मामले की आगे की जांच के दौरान नगर निगम के सम्बन्धित कर्मचारियों की भूमिका की भी जांच की जायेगी। उन्होंने बताया कि मुलजिम को कल अदालत में पेश किया जायेगा।  

Advertisements

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here