वन भूमि पर अवैध कब्जा करने से रोका तो सरपंच ने गुंडों के साथ मिलकर अधिकारियों पर किया जानलेवा हमला

Dav

जम्मू/ राजौरी (द स्टैलर न्यूज़),रिपोर्ट: अनिल भारद्वाज। जिला राजौरी के अंतर्गत गांव दलोगड़ा में वन विभाग की जमीन पर अवैध रूप से कब्जा कर रहे सरपंच को रोकने पर सरपंच ने अन्य लोगों के साथ मिलकर वन विभाग के तीन सुरक्षा कर्मियों (फॉरेस्ट गाड्र्स) पर जानलेवा हमला बोल दिया। जिससे उन्हें तुरंत अस्पताल पहुंचाया गया। वहीं, घटना की जानकारी वन विभाग के साथ पुलिस को दी गई। घायलों को उपचार के लिए जीएमसी अस्पताल राजौरी पहुंचाया गया। पुलिस ने मामला दर्ज छानबीन शुरू कर दी है और आरोपियों को पकडऩे के लिए धर पकड़ शुरू कर दी है।

Advertisements

जानकारी मुजब सरपंच मोहम्मद परवेज अवैध रूप से जे.सी.बी. लगाकर वन भूमि पर सडक़ की खुदाई कर रहा था। संबंधित डी.एफ.ओ. राजौरी संजय कुमार गुप्ता ने मामले पर ध्यान देते हुए अवैध गतिविधियों को रोकने के लिए 3 वन सुरक्षा कर्मियों को दलोगड़ा भेजा। जब अनिल कुमार, राकेश कुमार और शाहनवाज सहित वन कर्मी मौके पर पहुंचे, तो उन्होंने जेसीबी को रोका और इसकी चाबी अपने कब्जे में ले ली। ड्राइवर ने तुरंत सरपंच को फोन किया और मामले की जानकारी दी। कुछ देर बाद, 40-50 लोगों के साथ स्थानीय सरपंच मौके पर पहुंचा। सरपंच ने वन कर्मचारियों को गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दी और वन सुरक्षा कर्मियों पर जानलेवा हमला कर दिया।

जिसमें अनिल और राकेश कुमार को गंभीर चोटें आईं। घायलों को उपचार के लिए जीएमसी अस्पताल राजौरी भर्ती करवाया गया। घायल सुरक्षा कर्मियों ने कहा कि सरपंच ने अन्य लोगों के साथ मिलकर जानलेवा हमला कर दिया। हम वन भूमि पर गैर कानूनी ढंग से चल रहे कार्य को रोकने गए थे। सरपंच व अन्य लोगों ने हमें चेतावनी देने के साथ ड्यूटी करने से रोका और उसके उपरांत जानलेवा हमला कर दिया।

वहीं, कर्मचारियों ने डी.आई.जी. विवेक गुप्ता से अपील की कि वे संबंधित एस.एच.ओ. को निर्देश दें कि वे असामाजिक तत्वों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करें। जब एस.एच.ओ. राजौरी समीर जिलानी से संपर्क किया गया तो उन्होंने कहा कि जांच चल रही है और उसके अनुसार एफआईआर दर्ज की जाएगी। डीएफओ राजौरी संजय कुमार गुप्ता ने लिखित में शिकायत दर्ज करवाते हुए थाना प्रभारी राजौरी से अनुरोध किया कि ड्यूटी पर गए वन कर्मियों पर जानलेवा हमला करने वाले सरपंच व अन्य लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए।

GNA University

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here