मंत्रिमंडल द्वारा बुजुर्गों, विधवाओं, निराश्रित महिलाओं, दिव्यांग व्यक्तियों और आश्रित बच्चों को 1500 रुपए पैंशन के अलावा एक बार के लिए 1000 रुपए देने की मंजूरी

चंडीगढ़ (द स्टैलर न्यूज़)। मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के नेतृत्व में मंत्रीमंडल ने आज अहम फैसला लेते हुये बुजुर्गों, विधवाओं, निराश्रित महिलाओं, आश्रित बच्चों और दिव्यांग व्यक्तियों को कोविड-19 महामारी के चलते पेश मुश्किलों को ध्यान में रखते हुए 1500 रुपए प्रति महीना पैंशन/वित्तीय सहायता के अलावा उनको सिर्फ एक बार के लिए 1000 रुपए प्रति लाभार्थी तुरंत देने का फैसला किया गया है। यह अदायगी डी.बी.टी. के द्वारा सीधे तौर पर लाभार्थियों के बैंक खातों में डाली जायेगी। इससे लाभार्थियों को राहत मिलेगी और अपनी घरेलू जरूरतों को पूरा करने के लिए मदद मिलेगी। एक बार के लिए यह वित्तीय लाभ देने से 27.71 लाख लाभार्थियों को लाभ होगा और सरकारी खजाने पर 277.13 करोड़ रुपए का बोझ पड़ेगा।

Advertisements

गुरू रविदास वाणी अध्ययन केंद्र कमेटी, डेरा सचखंड बलां को 25 करोड़ रुपए जारी करने की मंजूरी मंत्रीमंडल ने गुरू रविदास वाणी अध्ययन केंद्र कमेटी, डेरा सचखंड बलां को योजनाबंदी विभाग के 25 अगस्त, 2021 को जारी दिशा-निर्देशों में ढील देते हुए पंजाब निर्माण प्रोग्राम के अधीन 31 दिसंबर, 2021 को जालंधर जिले के लिए विशेष केस के तौर पर एक बार के लिए योजनाबंदी विभाग की तरफ से पहले ही जारी की जा चुकी 25 करोड़ रुपए जारी करने की मंजूरी दे दी है।    यह बताने योग्य है कि मुख्यमंत्री ने यह ग्रांट गुरू रविदास वाणी अध्ययन केंद्र कमेटी, डेरा सचखंड बलां को देने का ऐलान किया था जिसको हाल ही में 28 दिसंबर, 2021 को आदरणीय 108 संत निरंजन दास जी (बाबा बलां वाले) के नेतृत्व में गठित किया गया था।पंजाब सार्वजनिक खरीद में पारदर्शिता नियम, 2022 को मंजूरी मंत्रीमंडल ने पंजाब सार्वजनिक खरीद में पारदर्शिता नियम, 2022 को हरी झंडी दे दी है। यह नियम कुशलता, आर्थिकता, ईमानदारी और जवाबदेही, पारदर्शिता, बोलीकारों के साथ निष्पक्ष और समानता वाला व्यवहार, सुशासन के बारे लोगों के भरोसे से समय पर निश्चित नतीजें प्रदान करने को यकीनी बनाने के लिए सृजत किये गए हैं। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here