पार्षदों पर भी दलबदल विरोधी कानून लागू होः अशवनी गैंद 

Dav

होशियारपुर (द स्टैलर न्यूज़)। नई सोच के सदस्यों द्वारा एक मीटिंग का आयोजन किया गया जिसमें राजनीतिक मुद्दों पर नगर में हो रही उथल-पुथल के बारे में चर्चा की गई कि पार्षदों का पार्टियां बदलना वार्ड वासियों के दिलों में ठेस पहुंचाने वाला कार्य है। नई सोच संस्था द्वारा पंजाब चुनाव कमिशन को अपील की गई कि जैसे सांसद सदस्य एवं विधायकों पर ऐंटी डिफैक्शन का कानून लागू होता है कि अगर कोई सांसद या विधायक पार्टी बदलता है तो उसकी सदस्यता रद्द हो जाती है, ठीक उसी तर्ज पर इन पार्षदें पर भी कानून लागू होना चाहिये।

Advertisements

राजनीतिक पार्टी से लड़े पार्षद पार्टी बदलते हैं तो सदस्यता हो रद्दः नई सोच संस्था 

अगर कोई पार्षद पार्टी बदलता है तो उसकी सदस्यता नगर निगम या नगर कौंसल में रद्द होनी चाहिए क्योंकि वार्ड वासियों में इस चीज़ का रोष पाया जा रहा है और वह ठगा सा महसूस कर रहे हैं और वोट डालने के अपने अधिकार से दूर जाने की सोच सकते हैं क्योंकि वोटर तो एक कठपुतली की तरह महसूस कर रहा है और जीतने वाले पार्षद अपना नफा नुक्सान देखते हुये इस चीज़ का फायदा उठा रहे हैं। इस अवसर पर रविन्दर गुप्ता, अमन सेठी, अजय जोशी, राजेश शर्मा, अवतार सिंह, रजत ठाकुर, मनी कपूर, इंद्रजीत, विक्की वालिया, संदीप पठानिया, मोहित पठानिया आदि मौजूद थे। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here